कच्ची कली के साथ एसे करे प्यार..

दुनिया जिस गति से आगे बढ़ रही है उस गति से आजकल के बच्चे भी अब पहले जैसी शरारतें नहीं करते। हर वक़्त मोबाइल से जुड़े रहने के कारण बच्चों के मन में उम्र से पहले ही गलत ख्याल आने लगे हैं। मोबाइल पर गलत विडियो आसानी से मिल जाती है जिसके कारण बच्चों में काम शक्ति जाग्रत हो जाती है। नतीजा यह देखने को मिल रहा है की जवान लड़के भाभी, आंटी के पीछे अपनी दुनिया संवार रहे हैं और लड़कियां अपने से बड़े उम्र के लड़कों के साथ खेलना पसंद कर रही हैं। एसे में अक्सर लड़कियां कुछ ऐसी गलतियाँ कर देती हैं जिससे उन्हें शारीरिक कमजोरी और दर्द से गुजरना पड़ता है। इसलिए आज हम जानेंगे कि किस तरह से कच्ची उम्र की लड़की के साथ वो काम किया जाए जिससे उसे दर्द ना हो…

आज जो मैं आपको जानकारी दूंगा यह आपके बड़े काम आ सकती है। और यह जानकारी लड़का और लड़की दोनों को ही पता होनी चाहिए।

कच्ची कली को कैसे पकाएं ?

कम उम्र की लड़की एक कच्ची कली की तरह होती है। उसको खिलकर फूल बनने में बहुत सावधानी रखनी चाहिए। ऐसा नहीं करने से बहुत परेशानी हो सकती है। सबसे पहले तो यह देखना चाहिए कि लड़की तैयार है या नहीं। उसके साथ जोर जबरजस्ती नहीं करनी चाहिए क्योकि इससे लड़की की मानसिक स्थिति बिगड़ सकती है। अगर लड़की तैयार है तो आप इन बातो को फॉलो करके उसे कच्ची कली को खिलता हुआ फूल बना सकते है।

  1.  सबसे पहले लड़की के पास बैठकर उससे प्यार भरी रोमेंटिक बाते करनी चाहिए इससे काम थोड़ा आसान हो जाता है। फिर लड़की की मर्जी से उसे अपनी बाहों में भरकर प्यार से उसे सहलाना चाहिए। जब आप उसका बदन छुएंगे तो वह थोड़ी शर्माएगी और आपको रोकेगी पर आप रुकना मत। आपके सहलाने से लड़की भी मस्त होने लगेगी।
  2. इसके बाद आपको रुकना नहीं है। बस होले-होले बिना कपड़े उतारे उस कच्ची कली को फूल बनाने के लिए पूरे बदन को छूना और किस करना चाहिए। लड़की जितनी उत्तेजित हो उसे उतना छुओ।
  3. इसके बाद धीरे-धीरे गले पर, गाल पर, और कान पर चूमना चाहिए। इसके बाद लड़की खुद ब खुद आपके होठो को अपने होठो से लगा लेगी। एक बात ध्यान रखना खाना जितनी धीमी आंच पर पकाओगे, उतना ही स्वादिष्ट लगेगा।
  4. अब उसके नरम होठो को अपने होठो में लेकर प्यार से गीला-गीला किस करना चाहिए। और फिर धीरे-धीरे कपड़े उतार कर पूरे बदन को चूमना चाहिए।
  5. यह सब करते वक्त आपको बीच-बीच में लड़की से पूछना चाहिए कि क्या उसे कोई परेशानी तो नहीं ? अगर लड़की मना करे कुछ करने के लिए तो उसे विश्वाश दिलाना चाहिए कि मैं तुम्हारे साथ कुछ गलत नहीं करूँगा। और जो भी करूँगा धीरे-धीरे करूँगा।
  6. अब लड़की के स्तन को अच्छे से धीरे-धीरे मल कर दबाना चाहिए। ध्यान रखियेगा यह लड़की का पहली बार है इसलिए लड़की को जरा सा भी दर्द नहीं होना चाहिए, वरना लड़की आपको दोबारा नहीं देगी। स्तनों को चूसते समय दात नहीं लगाना चाहिए, इससे लड़की को तकलीफ हो सकती है।
  7. अब सारे कपड़े उतार कर नीचे के हिस्से को चूमना चाहिए। ध्यान रखियेगा अभी आपको अपना केला छेद में नहीं डालना है। अगर आपने लड़की को पहले ही अपना केला दिखा दिया तो लड़की डर सकती है।
  8. अब उसकी जाँघों को सहलाकर गरम करना चाहिए। फिर देखना चाहिए कि क्या लड़की की नाजुक कली से पानी निकला या नहीं। वैसे इतनी देर में लड़की गीली हो ही जाती है। और अगर ना हो तो लड़की के छेद वाले हिस्से को हाथ से रगड़ना चाहिए। एसे में अगर आप लड़की की कली को जीभ से चांटते हैं तो लड़की पागल हो जाएगी।
  9. आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपके पास अपने केले के लिए छिलका हो, जो मेडिकल और पान की दुकानों पर आसानी से मिल जाता है। अपने केले पर छिलका लगा लेने से चिकनाहट बढ़ जाती है और लड़की को दर्द का अहसास कम होता है।
  10. लड़की की कली में अपना केला डालने से पहले अपनी ऊँगली को ड़ाल कर यह चेक कर ले कि लड़की को दर्द कितना हो रहा है। आम-तौर पर अगर लड़की पहले से ऊँगली नहीं डालती है तो दर्द होता है। अगर ऐसा है तो कुछ समय तक आराम से लड़की की नाजुक कली में ऊँगली करते रहे। और अगर उसे दर्द हो तो अपना सहारा दे। अगर चिकनाहट कम हो को नारियल के तेल का प्रयोग करें।
  11. ऊँगली करने के बाद अपने केले पर छिलका चड़ा लें।
  12. अब लड़की की टांगो को फैला कर उसके सामने बैठकर उसकी जांघे सहलाएं। और अपने केले को लड़की के छेद में धीरे-धीरे रगड़े। और जब लड़की के मुंह से आवाजें आने लगे तो छेद पर थोडा थूक लगाने से चिकनाहट बढ़ा लें। थूक लगाकर अपने केले को छेद में हल्के-हल्के धक्का दें। हो सकता है लड़की मना करने लगे क्योकि सारा दर्द लड़की को ही होता है। एसे में जितना केला अन्दर जाए उतना ही डालें। एक बार में पूरा केला अन्दर डालने की कोशिश ना करें।
  13. जब केला धीरे-धीरे अन्दर जाने लगेगा तो हो सकता है लड़की की सील टूट जाए और लड़की को खून आने लगे। एसे वक्त के लिए अपने साथ एक कपड़ा और रुई रखें और उसे साफ़ करते रहे। लड़की को खून ना दिखाए, इससे वह घबरा सकती है।
  14. जब लड़की मस्त होकर डलवाने लगे तो जितना आप चाहे उतना डालें। बस जहा वो मना करे तो मान जाये।
  15. धीरे-धीरे करोगे तो खेल लम्बा चलेगा।
  16. इसके बाद लड़की को कुछ दिनों तक दर्द रहता है। दर्द अगर एक हफ्ते से ज्यादा हो तो इस दौरान लड़की को ना छुए। कुछ दिन बाद लड़की खुद आपको आगे बढ़कर खेलने के लिए हिंट देगी, और फिर जब आपका जैसा मन हो वैसा एन्जॉय करे।

तो मैं उम्मीद करता हूँ आपको मेने जो बताया है, आप उसी प्रकार कच्ची उम्र की लड़की के साथ मजे लेंगे।

ज्यादा जानकारी के लिए आप हमे ईमेल पर सब्सक्राइब करें। हम आपके इमेल पर ऐसा दिलचस्प ज्ञान पहुंचाते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *