पटना, 16 सितंबर (आईएएनएस)। एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स की एक रिपोर्ट से पता चला है कि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के बिहार में सबसे ज्यादा दागी विधायक हैं। इसके बाद, कांग्रेस दूसरे और सबसे कम दागी विधायक भाजपा (बीजेपी) के हैं।

इस रिपोर्ट से पता चला है कि 41 प्रतिशत राजद नेताओं पर आपराधिक आरोप हैं, जबकि 40 प्रतिशत कांग्रेस नेताओं पर ऐसे आरोप हैं। इसके बाद जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के 37 प्रतिशत और बीजेपी के सबसे कम 35 प्रतिशत नेताओं के खिलाफ आपराधिक आरोप हैं।

रिपोर्ट के परिणाम उन हलफनामों पर आधारित हैं जो उम्मीदवारों ने 2015 के विधानसभा चुनावों के दौरान दायर किए थे।

हत्या जैसे गंभीर आरोप पर बात करते हुए, 11 विधायकों पर हत्या और 30 विधायकों पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है। 5 विधायकों पर महिलाओं के साथ क्रूरता का आरोप है और 1 विधायक पर बलात्कार का आरोप है।

इस रिपोर्ट में धन और संपत्ति के संबंध में भी खुलासे किए गए हैं। इसके अनुसार, 240 विधायकों में से 67 प्रतिशत करोड़पति हैं। खगड़िया सीट से जेडीयू विधायक पूनम देवी बिहार विधानसभा की सबसे अमीर विधायक हैं, उनके पास कुल 41 करोड़ रुपये की संपत्ति है। भागलपुर सीट से कांग्रेस विधायक अजीत शर्मा के पास 40 करोड़ की संपत्ति है। रानीगंज से जेडीयू विधायक अचिम ऋषिदेव के पास केवल 9.6 लाख रुपये की संपत्ति है।

रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया गया है कि 240 विधायकों में से 134 ने स्नातक से ऊपर की पढ़ाई की है, जबकि 96 विधायक स्नातक हैं और 9 विधायक सिर्फ साक्षर हैं।

SDJ-skp

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।