Black Friday

इस बार के लोकसभा चुनावों (Lok Sabha Election 2019) में भाजपा (BJP) के भारी बहुमत से जीतने के बाद जहां पूरे देश में जश्न का माहौल है। वहीं शुक्रवार 24 मई की शाम 4 बजे यही ख़ुशी मातम में बदल गई। देश के मॉडल राज्य गुजरात (Gujarat) के औद्योगिक शहर सूरत में एक घटना ने सभी का दिल दहला दिया। सूरत के सरथाणा इलाके में स्थित तक्षशिला कॉम्प्लेक्स (Taxila Complex) में भीषण आग लग गई। इस आग की वजह से 1 शिक्षक सहित 19 मासूमो को अपनी जान गंवानी पड़ी। मिली जानकारी के अनुसार जिस बिल्डिंग में आग लगी वह एक व्यावसायिक इमारत (Commercial building) है। इसी इमारत की चौथी मंजिल पर एक कोचिंग सेंटर (Coaching center) संचालित होता है।

 

बच्चों ने लगाई छलांग

जिस वक़्त ईमारत में आग लगी उस वक़्त कोचिंग सेंटर में भारी तादात में बच्चे मौजूद थे। अचानक से लगी आग के कारण बच्चे बिल्डिंग की उपरी मंजिल पर फंस गए। इस दौरान पूरी बिल्डिंग में अफरा-तफरी मच गई। सभी लोग अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। लेकिन आग बेहद ज्यादा फ़ैल गई जिस वजह से बच्चे ईमारत से बाहर नहीं आ सके। आग के कारण पूरी बिल्डिंग में काला जहरीला धुंआ भर गया। कई बच्चे धुएं के कारण बेहोश हो गए। कई बच्चों ने जान बचाने के लिए बिल्डिंग की ऊपरी ईमारत से छलांग लगाना शुरू कर दिया।

20 लोगों की मौत

बिना किसी सहारे के बच्चे ऊपरी मंजिल से नीचे जमीन पर छलांग लगाने लगे। इस वजह से 19 मासूमों और 1 शिक्षक को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। इस हादसे में 10 लोग भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। मिली जानकारी के अनुसार सभी घायलों को नजदीकी अस्पताल में दाखिल किया गया है। स्थानीय लोगों ने तत्काल ही सीढ़ी लगाकर बच्चों को बचाने का प्रयास भी किया। लेकिन इसमें वे सफल नहीं हो सके। हालांकि तत्काल ही फायर डिपार्टमेंट को इसकी सूचना दे दी गई।

दहल उठा दिल

सूचना मिलने के बाद भी फायर ब्रिगेड (fire brigade) समय से मौका-ए-वारदात पर नहीं पहुंची, जिसकी वजह से आग ने बेहद ही विकराल रूप धारण कर लिया। दमकल के समय से न पहंच पाने की वजह से 20 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। देर-सवेर ही सही लेकिन दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंची तो दमकल कर्मियों को आग बुझाने के लिए बेहद मशक्कत करनी पड़ी। बड़ी मुश्किल के बाद आग पर काबू पाया जा सका। लेकिन जान बचाने के लिए ईमारत से कूद रहे छात्रों को जिसने देखा उसका दिल दहल उठा।

पीएम ने जताया दुःख

इस दिल दहला देने वाली घटना के बाद पूरे देश में छाई खुशियां मानो गम में बदल गई। सोशल मीडिया (Social Media) पर तेजी से घटना वायरल हो गई। जैसे ही इस घटना की जानकारी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) को लगी, उन्होंने तत्काल ही ट्वीट कर दुःख प्रकट किया। “पीएम मोदी ने इस घटना पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, इस घटना से बेहद दुःख हुआ। मेंरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं।” पीएम मोदी ने तत्काल ही गुजरात सरकार और स्थानीय अधिकारियों को पीड़ित परिवारों की हर संभव मदद के लिए भी कहा।

राहुल ने भी व्यक्त की संवेदना

इसके बाद सोशल मीडिया पर दुःख प्रकट करने का सिलसिला शुरू हो गया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए लिखा, “सूरत, गुजरात में हुए इस हादसे की ख़बर से बहुत दुःख पहुंचा है। पीड़ित परिवारों के प्रति, मैं गहरा शोक और संवेदना व्यक्त करता हूँ।“ तमाम नेताओं और अधिकारियों ने ट्वीट कर गहरा दुःख जताया। पूरा देश सोशल मीडिया पर अपनी संवेदनाएं व्यक्त कर रहा था।

एम्स को नड्डा ने दिए निर्देश

स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा (JP Nadda) ने इस हादसे के बाद तत्काल ही एम्स के निदेशक को डॉक्टरों की एक टीम बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यदि जरूरत पड़ती है तो डॉक्टरों की एक विशेष टीम सूरत के लिए रवाना की जाएगी। एम्स ट्रामा सेंटर में कुछ बेड्स को भी आरक्षित रखा गया है।

सीएम ने दिया मुआवजा

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (Vijay Rupani) ने इस घटना पर गहरा दुःख जताते हुए हादसे की तत्काल जांच के न्यायिक आदेश दिए हैं। इस हादसे पर दुःख प्रकट करते हुए सीएम रूपाणी ने कहा, “मैं हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के साथ हूं, घायल हुए बच्चों के जल्द ही कुशल होने की कामना करता हूं।” इस हादसे में मारे लोगों के परिवार को 4 लाख की सहायता राशि देने की घोषणा भी सीएम ने की है।

अस्पताल पहुंचे रूपाणी

इसके बाद मुख्यमंत्री विजय रूपाणी अस्पताल में घायलों से मिलने पहुंचे। घायलों से मिलने के बाद रूपाणी ने ट्वीट कर कहा, “सूरत में हुए फायर ट्रेजेडी से घायल लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी ली। साथ ही डॉक्टरों और प्रशासनिक अधिकारियों को भी ज़रूरी निर्देश दिया। घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की ईश्वर से प्रार्थना करता हूं।“

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *