0

नर्सरी में मिला घायल मासूम

राजधानी दिल्ली (Delhi) से एक बेहद ही दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। दिल्ली के कौशांबी में स्थित रेडिसन ब्लू होटल (Radisson Blu Hotel) के पास बनी एक नर्सरी (Nursery) में एक 4 साल का मासूम गंभीर रूप से घायल अवस्था में मिलने से हडकंप मच गया। बच्चे के चेहरे पर धारदार हथियार के निशान थे और बच्चा बेहोशी की अवस्था में था। जैसे ही नर्सरी की संचालक (Nursery Operator) ने बच्चे को घायल अवस्था में देखा तो तत्काल ही पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने तत्काल ही मासूम को पास के निजी अस्पताल में दाखिल कराया।

चेहरे को काटा गया था

पूरा बुधवार का है जब शाम के वक्त नर्सरी में एक मासूम घायल अवस्था में मिला। बच्चे के चेहरे को धारदार हथियार से काटा गया था। अस्पताल में बच्चे के चेहरे की सर्जरी (Face Surgery) की गई है। चेहरे पर गंभीर चोटें होने और सर्जरी की वजह से बच्चा कुछ भी बोल नहीं पा रहा है। पुलिस बच्चे के परिजन को तलाशने के लिए सोशल मीडिया (Social Media) का सहारा ले रहे हैं। साथ ही पुलिस ने दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) समेत नजदीकी राज्यों की पुलिस से भी संपर्क किया है। कौशांबी थाना इंचार्ज (Kaushambi Police Incharge) शरद कांत (Sharad Kant) का कहना है कि बच्चे की तस्वीर को सोशल मीडिया पर वायरल कर उसके परिवार को तलाशा जा रहा है।

चेहरे की सर्जरी

इस पूरे मामले में शरद कांत ने बताया कि बुधवार शाम तकरीबन साढ़े 4 बजे उन्हें निकुंज नर्सरी (Nikunj Nursery) से सूचना मिली कि एक 4 वर्षीय मासूम घायल अवस्था में पड़ा है। पुलिस को यह सूचना नर्सरी की संचालक गुड्डी (Guddi) निवासी नोएडा ने दी। सूचना मिलते ही पुलिस तत्काल नर्सरी पहुंची और बच्चे को यशोदा अस्पताल (Yashoda Hospital) में दाखिल करवाया। इलाज के दौरान भी बच्चे को होश नहीं आया। फिलहाल बच्चे को आईसीयू (ICU) में रखा गया है और उसका इलाज जारी है। शरद कांत ने बताया कि बच्चे को ठीक होने में काफी समय लगेगा। फिलहाल उसके परिजन के बारे में कोई भी जानकारी नहीं मिल पाई है। थाना इंचार्ज शरद कांत का कहना है कि बच्चे के ठीक होने के बाद ही उसके परिजन का पता चल सकेगा। फिलहाल पुलिस बच्चे के परिवार को तलाश कर रही है।

बच्चे को था तेज दर्द

शरद कांत ने बताया कि बच्चा पढ़े-लिखे घर का लग रहा है और स्कूल में पढता है। जब बच्चे को अस्पताल में दाखिल किया गया उस दौरान वह तेज दर्द होने की वजह से कराह रहा था। उस दौरान बच्चे ने कहा कि, “सर मुझे बहुत दर्द हो रहा है।” शरद ने जानकारी दी कि बच्चे ने सफ़ेद रंग की टी-शर्ट और नीले रंग की जींस की निक्कर पहनी हुई थी। जिस वक्त बच्चा नर्सरी में मिला उस वक़्त उसके एक ही पैर में चप्पल थी, जबकि बहुत खोजबीन के बाद भी उसकी दूसरी चप्पल कहीं नहीं मिली। इससे पुलिस ने अंदाजा लगाया कि बच्चे को बेहोशी की हालत में नर्सरी में फेंका गया है।

परिजन की तलाश

जानकारी में सामने आया है कि बुधवार के दिन नर्सरी में पावर कारपोरेशन (Power Corporation) का कार्य चल रहा था इस वजह से वहां का दूसरा गेट खुला हुआ था। इसी गेट से बच्चे को नर्सरी में फेंका गया। फिलहाल पुलिस नर्सरी के और आसपास के सीसीटीवी फुटेज (CCTV Footage) को खंगाल रही है। शरद कांत का कहना है बच्चे के ठीक हो जाने के बाद उसके अँगुलियों के निशान को आधार कार्ड मशीन (Aadhar Card Machine) पर स्कैन कर पहचान करने की कोशिश की जाएगी।

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *