0

देशभर में आज लोहड़ी का पर्व बढ़ी ही धूमधाम से मनाया जा रहा है. लोहड़ी का यह पावन पर्व मकर संक्राति के ठीक एक दिन पहले मनाया जाता है. लोहड़ी विशेष रूप से पंजाबियों का त्यौहार है और इसे पंजाब में बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है, लेकिन अब यह पर्व पूरे देश में मनाया जाने लगा है.

 

उमंग और उत्साह का त्यौहार

लोहड़ी का त्यौहार मतलब उमंग और उत्साह. जी हां यही तो है लोहड़ी की पहचान. बड़ों और बुजर्गों के आशीर्वाद के साथ गुड़पट्टी की मिठास और मूंगफली की महक इस पर्व की खुशियों को और भी मीठा बना देती है.

 

गुड़ पट्टी, मूंगफली और गजक

लोहड़ी के दिन शाम के समय दिन ढल जाने के बाद आग जलाई जाती है. फिर इस आग के चारों तरफ लोग घेरा बना कर खड़े होते हैं. फिर इस आग में, गुड़ पट्टी, मूंगफली और गजक की आहुति देकर भोग लगाया जाता है. फिर इसे प्रसाद के रूप में सभी को बांटा जाता है.

 

गिद्दा नृत्य

प्रसाद वितरण होने के बाद महिलाए बड़े ही उत्सास और उमंग के साथ गिद्दा नृत्य करती हैं. इसके साथ ही परम्परागत गीत गाए जाते हैं. इस दिन विशेष रूप से मक्के की रोटी और सरसों का साग का भोजन ग्रहण किया जाता है.

 

परम्परागत गीत

आज कल परम्परागत गीतों की जगह फ़िल्मी गानों ने ले ली है, फिर भी कई जगह आज भी परम्परागत गीत ही गाए जाते हैं. लेकिन फ़िल्मी गीत भी इस पवन पर्व की रोनक बढ़ा देते हैं. आइए हम बताते हैं वह 5 फ़िल्मी गाने जिनकी धुन पर आप सभी जमकर थिरक सकते हैं और अपने लोहड़ी के इस त्यौहार में चार चांद लगा सकते हैं.

 

फ़िल्मी गाने

वीर जारा का यह गीत इस पर्व पर सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है

यह गीत लोहड़ी के गीतों में सबसे पुराना है.

यह गीत इस पर्व के उत्साह को दोगुना कर देगा

इस गीत को अपने प्रोग्राम में शामिल कर जमकर थिरक सकते हैं आप

यह गाना आपके त्यौहार की रोनक को कई गुना बढ़ा देगा

0