0

विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के हाथ से महाराष्ट्र और हरियाणा में कई सीटें फिसल गई। वहीं हरियाणा में तो भारतीय जनता पार्टी की नैया बीच मझधार में उलझती नज़र आ रही थी। इस दौरान सभी की नज़र जननायक जनता पार्टी (JJP) पर टिकी हुई थी। क्योंकि जेजेपी ऐसी पार्टी थी जिसके समर्थन के बिना कोई भी दल सरकार नहीं बना सकता था। इसी बीच हरियाणा में सरकार बनाने (BJP-JJP Alliance) को लेकर कयास लगाए जा रहे थे। लेकिन भारतीय जनता पार्टी के खेवनहार यानी पार्टी अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने एक बार सभी कयासों पर विराम लगाते हुए पार्टी की नैया को पार लगा ही दिया।

हरियाणा में BJP-JJP सरकार

दरअसल कांग्रेस पार्टी के भूपिंदर सिंह हुड्डा (Bhupinder Singh Hooda) भी जननायक जनता पार्टी (JJP) का समर्थन चाहते थे। इसके लिए हुड्डा ने दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) को ऑफर भी दिया। लेकिन शुक्रवार 25 अक्टूबर की शाम दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) और अमित शाह (Amit Shah) ने मुलाक़ात की। इस मुलाक़ात के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अमित शाह ने हरियाणा में सरकार बनाने (BJP-JJP Alliance) का ऐलान कर दिया। इस ऐलान के बाद सरकार बनाने को लेकर लगाए जा रहे कयासों पर विराम लग गया। इस ऐलान से यह स्पष्ट हो गया कि हरियाणा में भाजपा (BJP) और जेजेपी (JJP) मिलकर सरकार बनाएंगे।

अमित शाह का ऐलान

जेजेपी के संस्थापक दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) ने अमित शाह (Amit Shah) के साथ बैठक कर भाजपा से हाथ मिला लिया। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान शाह ने ऐलान किया कि भाजपा और जेजेपी मिलकर हरियाणा में एक स्थाई सरकार (BJP-JJP Alliance) का निर्माण करेंगे। वहीं उन्होंने यह भी घोषणा कि इस सरकार में मुख्यमंत्री भाजपा (BJP) का होगा और उप-मुख्यमंत्री जेजेपी (JJP) का। इस दौरान शाह ने कहा कि हम प्रदेश द्वारा दिए गए जनादेश का सम्मान करते हैं। दोनों ही पार्टियों ने मिलकर प्रदेश में सरकार बनाने का निर्णय लिया है। शाह ने कहा कि जेजेपी के अलावा भाजपा को कई निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन मिला है।

आज होगा मंत्रियों के नाम का ऐलान

अमित शाह (Amit Shah) ने घोषणा करते हुए कहा कि शनिवार 26 अक्टूबर को विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद मंत्रियों के नाम का निर्णय होगा। अब इस घोषणा के बाद इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि भाजपा एक बार फिर मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) को प्रदेश की कमान सौंप सकती है। वहीं उप-मुख्यमंत्री के रूप में दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) शपथ ग्रहण कर सकते हैं। जेजेपी का समर्थन मिलने के बाद अब भाजपा के खाते में कुल 59 सीटें हो गई हैं। बहुमत के लिए किसी भी दल को केवल 46 सीटें चाहिए हैं। अब भाजपा के पास बहुमत से काफी ज्यादा सीटें हैं।

नई सरकार के गठन की प्रक्रिया

जेजेपी (JJP) के अलावा भाजपा (BJP) को 9 निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन प्राप्त है। वहीं मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि प्रदेश को एक स्थाई सरकार () देने के लिए भाजपा ने जेजेपी के साथ हाथ मिलाया है। अब शनिवार को गवर्नर से मुलाक़ात कर प्रदेश में नई सरकार बनाने की प्रक्रिया आरंभ हो जाएगी। इस नई सरकार में जेजेपी के 2 कैबिनेट मंत्री और एक राज्यमंत्री होगा। नई सरकार के गठन के लिए और भाजपा-जेजेपी के गठबंधन के लिए अमित शाह (Amit Shah) अहमदाबाद का दौरा बीच में छोड़ कर ही दिल्ली वापस आ गए।

 

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *