0

गिरफ्तारी के बाद हुड़दंग, सरकारी वाहन क्षतिग्रस्त

उज्जैन। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश के किसानो के साथ मिलकर कांग्रेस के खिलाफ किसान आक्रोश आंदोलन (Kisan March) छेड़ दिया है। जैसे ही सोमवार दोपहर 3 बजे जब उज्जैन के कोठी क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) की सांकेतिक गिरफ्तारी का भाजपा कार्यकताओं को पता चला वैसे ही कार्यकर्ता सरकारी वाहन पर चढ़ गए। कार्यकर्ताओं की हुड़दंग से सरकारी वाहनो को नुकसान पहुंचा है। यही नहीं बल्कि जब कार्यकर्ताओं का दबाव बढ़ा तो वाहन का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया, वाहन में लगी जालियां झूक गई, और हैडलाइट के कांच भी टूट गए। कार्यकर्ताओं के इस हंगामे को देख पुलिस ने सभी को पकड़कर दशहरा मैदान की खुली जेल में बंद कर दिया, जहां से कुछ समय बाद सभी को रिहा कर दिया गया। बतादे की इतने बड़े कांड के बाद भी किसी के भी खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं हुआ है।

kailash vijayvargiya arrested

एसे बढ़ा मामला ?

मध्य प्रदेश के किसानों को प्रदेश सरकार से फसल ऋण योजना का लाभ नहीं मिलने रहा था जिसके बाद प्रदेश सरकार के खिलाफ भाजपा प्रदर्शन कर रही थी। किसान आक्रोश आंदोलन जैसे ही कोठी क्षेत्र पहुंचा तो उन्हें रोकने के लिए पुलिस ने बैरिकेड्स लगा दिए, जिसके बाद कार्यकर्ताओं ने बैरिकेड्स हटाकर आगे बढ़ने की कोशिश की। इसके बाद जब पुलिस ने आंदोलन रोकने का दबाव बनाया तो फिर भाजपा कार्यकर्ताओं का हंगामा बढ़ा जिसे देख एडीएम डॉ.आरपी तिवारी ने सांकेतिक गिरफ्तारी के आदेश दिए। जिसके बाद विजयवर्गीय सहित सांसद अनिल फिरोजिया, विधायक डॉ.मोहन यादव, पारस जैन, बहादुरसिंह चौहान को गिरफ्तार करने के लिए वाहनों में बैठाया गया। तभी कुछ कार्यकर्ता फालोअप वाहन पर चढ़े और नारेबाजी करने लगे।

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *