पी चिदंबरम गिरफ्तार

कांग्रेस पार्टी की मुश्किलें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। लोकसभा चुनाव में प्रचंड हार के बाद जहां राहुल गांधी ने अपना अध्यक्ष पद त्याग दिया। तो वहीं पार्टी को मझधार से उभारने के लिए सोनिया गांधी को फिर से कांग्रेस पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त किया गया। अभी पार्टी अपने अध्यक्ष का चुनाव भी ठीक से नहीं कर पाई थी कि पार्टी के एक बड़े नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (CBI Arrested P. Chidambaram) को आज सीबीआई (CBI) ने गिरफ्तार कर लिया।

गायब होने का आरोप

दरअसल पी चिदंबरम (CBI Arrested P. Chidambaram) को INX मीडिया केस में गिरफ्तार किया गया। बताया जा रहा है कि चिदंबरम (P. Chidambaram) मंगलवार से गायब थे और उन्हें जांच एजेंसिया तलाश रही थीं। चिदंबरम पर गायब हो जाने के भी आरोप लगे थे। यह आरोप तब लगे जब चिदंबरम (P. Chidambaram) ने बीच रस्ते में अपने ड्राइवर और क्लर्क को गाड़ी से उतार दिया और अपना मोबाइल भी बंद कर लिया। तभी से सीबीआई (CBI) और ईडी (ED, Enforcement Directorate) उनकी तलाश कर रही थीं। इस दौरान जांच एजेंसियों ने चिदंबरम (P. Chidambaram) के सभी करीबियों के घर छान मारे। राजधानी दिल्ली के तकरीबन दर्जनभर से अधिक ठिकानों पर छापा भी मारा लेकिन चिदंबरम का कहीं कोई पता नहीं चला।

कांग्रेस दफ्तर में की थी प्रेस वार्ता

24 घंटे के बाद चिदंबरम (P. Chidambaram) खुद ही सामने आए और कांग्रेस दफ्तर में एक प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की। इस कांफ्रेंस में चिदंबरम ने मीडिया को 24 घंटे तक गायब रहने की वजह भी बताई। उन्होंने कहा कि यह एक साजिश है जिसके तहत उन्हें फंसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वे कहीं गायब नहीं हुए थे बल्कि दस्तावेज तैयार कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में मेरे खिलाफ बहुत भ्रम फैलाया गया है। उन्होंने मीडिया से कहा कि उनके खिलाफ कोई भी चार्जशीट सीबीआई (CBI) द्वारा दाखिल नहीं की गई है। इतना ही नहीं चिदंबरम (P. Chidambaram) ने तो यह भी कहा कि उनके परिवार के खिलाफ भी कोई चार्जशीट दाखिल नहीं हुई है और न ही किसी एफआईआर में उनका नाम दर्ज है।

CBI ने घर से किया गिरफ्तार

इस प्रेस कांफ्रेंस को ख़त्म कर चिदंबरम (P. Chidambaram) अपने घर पहुंचे। हालांकि उनकी कांफ्रेंस के दौरान सीबीआई (CBI) भी मौजूद थी। वहीं चिदंबरम के घर पहुँचने के बाद वहां काफी हाई वोल्टेज ड्रामा हुआ। इस ड्रामे के बाद आखिरकार सीबीआई (CBI) ने उन्हें गिरफ्तार (CBI Arrested P. Chidambaram) कर ही लिया। 27 घंटों के बाद चिदंबरम सीबीआई (CBI) के हाथ आखिर लग ही गए।

क्या है INX Case

INX मीडिया घोटाला (INX Case) मनी लांड्रिंग का मामला है जो INX मीडिया कंपनी से जुड़ा हुआ है। मनी लांड्रिंग का यह मामला साल 2007 का है, जब चिदंबरम (P. Chidambaram) वित्त मंत्री थे। गौरतलब है कि INX मीडिया कंपनी की डायरेक्टर शीना वोरा थीं जिनके हत्याकांड में इंद्राणी मुखर्जी (Indrani Mukerjea) और उनके पति पीटर मुखर्जी (Peter Mukerjea) मुख्य आरोपी INX मीडिया कंपनी को 305 करोड़ रु। का फंड लेने के लिए तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P. Chidambaram) ने विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (FIPB, Foreign Investment Promotion Board) से मंजूरी दिलाई थी।  इससे चिदंबरम के बेटे और सांसद कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) की कंपनी को फायदा पहुंचा। इसके बाद साल 2017 में इस मामले में सीबीआई (CBI) ने मामला दर्ज किया। वहीं एक साल बाद यानी साल 2018 में प्रवर्तन निदेशालय (ED, Enforcement Directorate) ने भी इस मामले में मनी लांड्रिंग का केस दर्ज कर दिया।

INX Case में नया मोड़

चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) पर आरोप है कि उन्होंने अपने पिता के रुतबे का गलत इस्तेमाल किया और इंद्राणी (Indrani Mukerjea) की कंपनी के खिलाफ टैक्स का एक मामला ख़त्म करवाया। INX Case में साल 2018 में नया मोड़ तब आया जब इंद्राणी (Indrani Mukerjea) ने सीबीआई (CBI) को कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) के खिलाफ एक बयान दिया। अपने बयान में इंद्राणी (Indrani Mukerjea) ने कहा कि INX मीडिया को FIPB से मंजूरी दिलाने के लिए उन्होंने कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) से 10 लाख डॉलर की डील की थी। जुलाई 2019 में इंद्राणी (Indrani Mukerjea) को दिल्ली हाईकोर्ट ने सरकारी गवाह बनाने की अनुमति प्रदान की थी।

जमानत याचिका रद्द

मई 2018 में पी चिदंबरम (P. Chidambaram) ने अंग्रिम जमानत लेने के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। तब उन्हें जुलाई 2018 में कोर्ट से जमानत की मंजूरी मिल गई थी। यह समय सीमा बार-बार बढ़ाई जाती गई। हालांकि इस दौरान सीबीआई (CBI) और ईडी (ED, Enforcement Directorate) ने चिदंबरम को पूछताछ के लिए कई बार बुलाया। कई घंटों तक चिदंबरम से पूछताछ की गई। वहीं अब दिल्ली हाईकोर्ट ने उनकी अग्रिम जमानत याचिका को ठुकरा दिया। याचिका खारिज करने के बाद रात को ही सीबीआई (CBI) चिदंबरम के घर जा धमकी। हालांकि उस वक्त चिदंबरम अपने घर पर नहीं थे। इसके बाद प्रवर्तन निदेशालय (ED, Enforcement Directorate) ने चिदंबरम के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी दिया और उनकी तलाश शुरू की गई। अब सीबीआई (CBI) ने उन्हें गिरफ्तार (CBI Arrested P. Chidambaram) कर लिया है। अब उन्हें आज सीबीआई (CBI) कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा।

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *