जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ (CRPF) के काफिले पर गुरुवार को हुए आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) में 40 से अधिक जवानों की शहादत के बाद पूरे देश में उबाल आ चुका है। इस आतंकी हमले से सिर्फ देश की जनता ही नहीं बल्कि कुंभ मेले में संतों का गुस्सा भी चरम पर है। कुंभ मेले में अखिल भारतीय हिन्दू सुरक्षा समिति के अध्यक्ष जगद्गुरू पंचानंद गिरि ने तो खूंखार आतंकी मसूद अजहर का सिर काटकर लाने वाले को पांच करोड़ रुपये देने का ऐलान तक कर दिया है।

पंचानंद गिरि ने कि एक समय था जब भारत सरकार ने इस खूंखार आतंकवादी मसूद अजहर को छोड़ा था, तब देश के लोगों और मीडिया ने खूब दबाव बनाया था। जिसका खामियाजा अब हमारे देश के जवान अपनी कुर्बानी देकर चुका रहे हैं। हमें मजबूत होना होगा, राष्ट्र को मजबूत होना होगा, तभी मसूद जैसे आतंकी को मारा जा सकता है। इतना ही नहीं पंचानंद गिरि ने ऐलान करते हुए कहा कि, जो कोई भी उस खूंखार आतंकी सरगना मसूद अजहर का सिर काट कर लाएगा वह उसे अपनी तरफ से 5 करोड़ रुपए का नकद ईनाम देंगे।

इतना ही नहीं उन्होंने आगे कहा कि, जैसे कांग्रेस सरकार आतंकवादियों के सामने झुकी हुई है, वैसे ही आज वहीं काम भाजपा सरकार कर रही है। जवानों की शहादत से पूरा देश में उबाल है। इस लिए अब पाकिस्तान से सीधी लड़ाई लड़ते हुए उसे समाप्त कर देना चाहिए। अगर ऐसा नहीं किया गया तो आतंकवादियों के हौसले लगातार बढ़ते रहेंगे। उन्होंने निहत्थे और ड्यूटी पर जा रहे सीआरपीएफ के जवानों पर हमले की घोर निंदा की। उन्होंने कहा कि, आतंकवादी इंसानियत के दुश्मन हैं इनका सफाया करना मतलब धर्म की रक्षा करना है।

कुंभ मेले में शहीदों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करने के बाद स्वामी देवतीर्थ ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में शहीद जवानों के परिजनों को पांच-पांच करोड़ रुपये देने की मांग की। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी बेहद जरूरी है। उन्होंने देश में चल रहे गुस्से और उबाल के बीच किसी को भी राजनीति न करने की सलाह दी और कहा कि, सभी राजनीतिक दलों को ऐसे समय में एक साथ उठ खड़े होकर, राजनीति त्याग कर आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ना चाहिए और उसे समूल नष्ट कर देना चाहिए।