हैदराबाद में 27 नवंबर की रात एक पशु चिकित्सक प्रियंका रेड्डी (Priyanka Reddy Case) के साथ हैवानियत करने वाले बलात्कारियों और हत्यारों को आखिर उनके कुकर्मों की सजा आज सुबह मिल ही गई। चारों आरोपियों को जनता के सामने फांसी पर लटकाने की मांग की जा रही थी इसी बीच चारों अपराधियों का पुलिस द्वारा एनकाउंटर किए जाने की खबर से देश भर में ख़ुशी का माहौल है। इतना ही नहीं प्रियंका रेड्डी (Priyanka Reddy) को इंसाफ दिलाने के लिए अनशन पर बैठी दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इस पर अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए अपना आमरण अनशन आज तोड़ दिया।

आज सुबह सबेरे ही देशवासियों को प्रियंका रेड्डी (Priyanka Reddy Case) मामले में एक बेहद बड़ी खुशखबरी मिलने से देश में एक ख़ुशी का माहौल है। सभी हैदराबाद पुलिस (Hyderabad Police) के एक कारनामे की तारीफ कर रहे हैं। सभी का कहना है कि आरोपियों को बिल्कुल सही सजा मिली है। उनके साथ यही होना चाहिए था। मिली जानकारी के अनुसार शिवा, नवीन, केशवुलू और मोहम्मद आरिफ को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था। हालांकि बुधवार को शादनगर की अदालत ने चारों आरोपियों को 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजे जाने का आदेश दिया था। पुलिस रिमांड के दौरान हैदराबाद पुलिस (Hyderabad Police) चारों आरोपियों को नेशनल हाइवे-44 पर बने अंडरपास यानि घटनास्थल ले गई।

पुलिस गुरुवार रात को आरोपियों को लेकर यहां हुई वारदात का सीन रिक्रिएट पहुंची। आरोपियों ने मौके के फायदे उठाते हुए यहां से भागने की कोशिश की। इस कोशिश के दौरान ही आरोपियों ने पुलिस से उनका हथियार भी छीन लिया और पुलिस पर हमला भी बोला। इसके जवाब और अपनी आत्मरक्षा में पुलिस को जवाबी कार्रवाई करनी पड़ी। पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया और चारों को मौत के घाट उतार दिया। एक तरफ पुलिस द्वारा किए गए इस एनकाउंटर से देश भर में ख़ुशी का माहौल है वहीं सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) की एक वकील वृंदा ग्रोवर (Vrinda Grover) पुलिस पर प्रकरण दर्ज करने की मांग उठा रही हैं। उनका कहना है कि इस मामले की पूरी जांच कराई जानी चाहिए।

हालांकि इस मामले में भाजपा नेता कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) ने हैदराबाद पुलिस (Hyderabad Police) का धन्यवाद किया है और अन्य राज्यों की पुलिस को इससे सीख लेने की बात कही हैं।

एक न्यूज़ हैडलाइन को रीट्वीट करते हुए कपिल मिश्रा ने लिखा, “धन्यवाद हैदराबाद पुलिस, यह बलात्कारियों से निपटने का तरीका है। आशा है अन्य राज्यों की पुलिस आपसे सीख लेगी।”

इसके बाद कपिल ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा, “Dear दिल्ली पुलिस एक बार निर्भया के आरोपियों को भी घटना स्थल पर ले जाइए, शायद निर्भया को भी न्याय मिल जाएं।”

 

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।