ऑटोमैटिक विनिमय प्रणाली से स्विट्जरलैंड ने भारत को दी जानकारी

आज भारत को काले धन पर बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। आज भारत सरकार को भारतीय नागरिकों के स्विस बैंक खातों में रखे काले धन का पहला ब्योरा मिला है। स्विट्जरलैंड सरकार के द्वारा दी गई यह जानकारी बहुत अहम है क्योकि इसी की मदद से विदेशी खातों में रखे गए भारतीय काले धन को वापस लाया जा सकेगा। आपको बता दे की यह जानकारी भारत को स्विट्जरलैंड से ऑटोमैटिक सूचना विनिमय प्रणाली (एईओआई) के द्वारा मिली है। भारत के साथ-साथ स्विट्जरलैंड ने यह जानकारी अन्य 74 देशों को भी सांझा की है, जिसकी मदद से पुरे विश्व को काले धन पर कारवाई करने में मदद मिलेगी।

मोदी सरकार ने 2014 में स्विस बैंक खातों की जानकारी मांगी थी

वर्ष 2014 में जब मोदी सरकार सत्ता में आई थी तब काले धन को लेकर कई अहम कदम उठाये गए थे। प्रधानमंत्री मोदी ने जून, 2014 में स्विट्जरलैंड सरकार से यह अपील की थी की वे स्विस बैंकों में बेहिसाब रकम रखने वाले भारतीयों की जानकारी सांझा करे। मोदी सरकार ने काले धन पर शिकंजा कसने के लिए नोटबंदी जैसे बड़े कदम भी उठाये थे।

सक्रिय खातों के साथ 2018 में बंद किए खातों की जानकारी भी मिली

स्विट्जरलैंड सरकार ने भारत को काले धन पर एसी निचोड़ जानकारी दी है जिसमें भारत को स्विस बैंक में सक्रिय खातो के साथ-साथ 2018 में बंद किए गए खातो की भी जानकारी मिली है  जा चुके। यही नहीं बल्कि ऑटोमैटिक सूचना विनिमय प्रणाली के तहत, भारत को वित्तीय खातों के बारे में भी जानकरी मिलेगी। यह जानकारी भारत को सितंबर, 2020 तक मिल जाएगी।

 

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *