0

स्वच्छता में नंबर 1

इंदौर। स्वच्छ भारत अभियान के तहत इंदौर शहर प्रथम स्थान पर है। स्वच्छता अभियान में लगातार तीन बार नंबर 1 आने के बाद अब इंदौर चौथी बार भी स्वच्छता का किताब हासिल करने के लिए तैयार है।

मुख्यमंत्री कमलनाथ और नगरीय प्रशासन मंत्री विभाग के प्रमुख सचिव ने निगमायुक्त आशीष सिंह को इंदौर की स्वच्छता कायम रखने पर सख्त आदेश दिए है। आदेश मिलते ही आशीष सिंह शहर की साफ-सफाई का निरीक्षण करने के लिए शहर में हर गली मोहल्ले में घूम रहे है। सफाई व्यवस्था के निरीक्षण में आशीष सिंह ने देखा की सड़क किनारे लगे लिटरबीन व्यवस्थित नहीं है, और कई कर्मचारी भी शहर की स्वच्छता बरतने में कामचोरी कर रहे है। निरीक्षण करने के बाद आशीष सिंह ने काम में लापरवाही करने वाले कर्मचारियों पर कड़ी कारवाई की। निगमायुक्त आशीष सिंह ने कामचोरी कर रहे 2 सीएसआई (जोन 9 के सीएसआई राजकुमार यादव और जोन 8 के सीएसआई मुकेश बिसे) को जलूद भेजा, और 1 सीएसआई (जोन 6 के वीरेंद्र यादव) ने अपनी लोकेशन गलत बताई तो उसका तीन दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए। इसी के साथ ही जोन 9 के स्वास्थ्य अधिकारी विवेक गंगराडे को भी 7 दिन का वेतन राजसात करने के निर्देश दिए।

लगातार हो रहा सफाई कार्य

स्वच्छ सर्वेक्षण लीग-2020 के तहत देश में चौथी बार इंदौर नंबर 1 बनाने के लिए शहर के मुख्य मार्गों और बाजारों में सुबह-शाम सफाई का कार्य जा रहा है। इसी के साथ-साथ लोगों को भी स्वच्छता बरतने पर जागरूक किया जा रहा है। कई कॉलोनियों में सफाई कर्मचारी डोर टू डोर जाकर कचरा एकत्र कर रहे हैं। बाजारों में स्वच्छता पर लगातार जोर दिया जा रहा है। दुकानों से कचरे को एकत्र करने के लिए स्वच्छता वाहन लगातार ही बाजार में घूम रहे हैं। सड़क किनारे लगे लिटरबीन को भी व्यवस्थित कर उन पर गीला-सूखा कचरा के नए स्टीकर लगाए जा रहे है।

शहरवासियों का योगदान

लगातार 3 बार नंबर एक का खिताब हासिल करने के बाद से ही इंदौर शहर को फिर से नंबर 1 बनाने की मुहीम चल पड़ी थी। शहरवासियों ने भी अपना कर्तव्य बखूबी निभाया और इंदौर को स्वच्छ रखने में अहम भूमिका अदा की। लगातार 3 बार नंबर एक स्थान पर रहने वाला इंदौर शहर, चौथी बार भी नंबर एक स्थान प्राप्त करने के लिए तैयार है।

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

 

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *