प्लास्टिक को किया जायेगा जड़ से ख़त्म

इंदौर | नगर पालिका इंदौर के ट्रेंचिंग ग्राउंड में सेंसर बेस्ड एक रोबोट आधारित प्लांट लगाया गया है। बताया जा रहा है की रोबोट से यह पता चलेगा कि किस ब्रांड का कितना और किस तरह का प्लास्टिक मटेरियल कूड़े में आया है। इसके बाद प्लास्टिक मटेरियल बनाने वाली कंपनी से निगम द्वारा दंडित शुल्क लिया जायेगा। आपको बता दे की शहर के ट्रेंचिंग ग्राउंड में रोबोट प्लांट का इंस्टालेशन हो चुका है। 2 अक्टोम्बर से पुरे देश भर में सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लग चूका है। प्लास्टिक प्रतिबंध को लेकर इंदौर निगम द्वारा उठाये गए इस कदम ने एक बार फिर संकेत दिया है कि इंदौर फिर से स्वछता में नंबर 1 आने के लिए तैयार है।

इंदौर की स्वच्छता हेट्रिक

लगातार तीन बार स्वच्छता सर्वेक्षण में नंबर 1 आने में इंदौर के रहवासियों ने अपनी अहम भूमिका निभाई है। इंदौर शहर ने स्वच्छता के मामले में सभी अन्य शहरों को तीन बार लगातार पछाड़ा है और चौथी बार फिर नंबर एक के पायदान पर आने के लिए तैयार है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय में इंदौर शहर को स्वच्छता में पहला स्थान प्राप्त है।

लगातार हो रहा सफाई कार्य

इंदौर शहर के मुख्य मार्गों और बाजारों में सुबह हो या शाम, लगातार ही सफाई का कार्य किया जाता है। अधिकतर सभी कॉलोनियों में सफाई कर्मचारी डोर टू डोर जाकर कचरा एकत्र कर रहे हैं। बाजारों में स्वच्छता पर लगातार जोर दिया जा रहा है। दुकानों से कचरे को एकत्र करने के लिए स्वच्छता वाहन लगातार ही बाजार में घूम रहे हैं।

शहरवासियों का योगदान

लगातार 3 बार नंबर एक का खिताब हासिल करने के बाद से ही इंदौर शहर को फिर से नंबर 1 बनाने की मुहीम चल पड़ी थी। शहरवासियों ने भी अपना कर्तव्य बखूबी निभाया और इंदौर को स्वच्छ रखने में अहम भूमिका अदा की। लगातार तीन बार नंबर एक स्थान पर रहने वाला इंदौर शहर, चौथी बार फिर नंबर एक के पायदान पर रहेगा और हैट्रिक कायम रखेगा।

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *