0

इंदौर में निगम की तानाशाही

इंदौर नगर निगम जब कनाडिया रोड स्थित डायमंड कॉलोनी अवेध मकान तोड़ने पहुची तब डायमंड कॉलोनी में हंगामा मच गया। जब निगम की टीम अवैध अतिक्रमण हटाने पहुंची तब इसके विरोध में रहवासियों ने सड़क बंद कर चक्काजाम कर दिया। मामला इतना गंभीर हो गया कि मौके पर निगम टीम पर रहवासी भारी पड़ गए और अधिक बल के लिए निगम को पुलिस बल और एसडीमए सहित खजराना थाने से 20 लोगों का बल बुलवाना पड़ा।

रहवासियों और पुलिस में हाथापाई भी हुई। जहां महिलाओं को हटाने के लिए अन्य थानों की महिला पुलिसकर्मी और महिला पीसीआर बुलाया गया। जब कनाड़‍िया थाना प्रभारी अनिल सिंह चौहान ने रहवासियों को काम में बाधा डालने की वजह से कार्रवाई की चेतावनी दी तो चक्काजाम कर रही महिलाएं खुद हट गईं। रास्ता खुलते ही निगम ने डायमंड कॉलोनी में स्थित 4 मकान गिराए जो अवैध रूप से बने थे। निगम अधिकारियों का कहना है कि अवैध अतिक्रमण वाले मकान गिराने की कार्रवाई का नोटिस रहवासियों को पहले ही दे दिया गया था।

विडियो देखे :

गौरतलब है कि अभी हाल ही में एक जर्जर भवन को गिराने को लेकर क्षेत्र क्रमांक 3 के भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय ने एक निगम अधिकारी को बल्ले से मारा था। इसके बाद आकाश को गिरफ्तार कर लिया गया था और उन्हें 85 घंटे सलाखों के पीछे बिताने पड़े थे। इसके बाद उन्हें जमानत तो दे दी गई लेकिन पार्टी के आलाकमान आकाश के इस व्यवहार से काफी खफा हैं। नगर निगम ने भी कोर्ट की हिदायद के बाद आख़िरकार अपनी कार्रवाई को अंजाम दिया और उस जर्जर मकान को तोड़ दिया। हालांकि आकाश विजयवर्गीय ने जिस बात को लेकर अधिकारी को पीटा था उसे भी कोर्ट ने माना और उस मकान में रहने वाले लोगों को तत्काल ही वैकल्पिक आवास मुहैया करवाने के निर्देश निगम को जारी किए थे।

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *