लता मंगेशकर को मिलेगा डॉटर ऑफ द नेशन का खिताब

मध्य प्रदेश के इंदौर में जन्मी लता मंगेशकर ने अपनी गायकी से पूरी दुनिया को मोहित दिया। जब लता मंगेशकर ने गाना शुरू किया था तब वो महज 13 साल की ही थीं। उन्होंने अपना पहला गाना सन 1942 में मराठी फिल्म ‘किती हसाल’ के लिए रिकॉर्ड किया था। इसके बाद से ही लता जी लगातार गाने गा रही हैं।

28 सितंबर को लता मंगेशकर का 90वा जन्मदिन आ रहा है और इस मोके पर केंद्र सरकार लता मंगेशकर को ‘डॉटर ऑफ द नेशन’ का खिताब से सम्मानित करने जा रही है। यह तोहफा लता जी को मिलने वाला सबसे कीमती तोहफों में से होगा। जानकारी के अनुसार लता जी के 90वे जन्मदिन को और ज्यादा स्पेशल मानाने के लिए कई बड़े गीतकार और कवियों ने कुछ खास गीत-संगीत भी लिखे है, जो उनके जन्मदिन पर ही सुनने को मिलेंगे।

रानू मंडल की आवाज़ लता मंगेशकर

लताजी ने पिछले दिनों इंटरनेट पर वायरल हो रही रानू मंडल को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी थी। लताजी ने कहा था, “अगर मेरे नाम और काम से किसी का भला होता है तो मैं अपने आपको खुश किस्मत समझती हूं। लेकिन मुझे यह भी लगता है कि नकल सफलता का विश्वसनीय और टिकाऊ साथी नहीं हो सकती। मेरे या किशोर दा या मोहम्मद रफी साब या मुकेश भैया या आशा भोसले के गानों से एस्पायरिंग सिंगर्स कम वक्त के लिए ध्यान खींच सकते हैं। लेकिन ये आखिरी नहीं है।”

बता दे की रानू मंडल रेलवे स्टेशन पर लताजी के गाने गाते हुए सुर्कियो में आई थी। उसमे रानू ‘एक प्यार का नगमा है’ गा रही थीं, जिसकी असली सिंगर लता मंगेशकर हैं। रानू मंडल के वायरल होते ही संगीतकार हिमेश रेशमिया ने रानू को अपनी फिल्म ‘हैप्पी हार्डी एंड हीर’ में गाने का मौका दिया।

 

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *