मिलावटखोरों की शिकायत करने पर मिलेगा 11,000₹ का इनाम

इंदौर। मध्य प्रदेश में खाद्य विभाग मिलावटखोरों के खिलाफ सक्रीय हो गया है। प्रदेश भर में मिलावटखोरों पर खाद्य विभाग लगातार छापे मार उन पर कारवाई भी कर रहा है। एसे में मिलावटखोर सतर्क होकर अपने काम को अंजाम दे रहे है। जल्द ही राखी, स्वतंत्र दिवस, ईद जैसे बड़े त्यौहार आने वाले है। हर साल इन त्योहारों पर मिठाइयों और अन्य खाद्य पदार्थ में भारी मात्रा में मिलावट की जाती है। इन मिलावटों को रोकने के लिए राज्य सरकार पहली बार एक एसा कदम उठाने जा रही है जिसमे मिलावटखोरों का बचाना नामुमकिन है।

 

जो भी राज्य सरकार से मिलावटखोरों की शिकायत करता है या उनके बारे में सूचना देता है तो सरकार द्वारा उन्हें 11 हजार रुपए का इनाम दिया जायेगा। इसमें मुख्य बिंदु यह है कि सूचना देने वाले का नाम पूर्ण रूप से गुप्त रखा जाएगा। यह बात शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट और प्रमुख सचिव पल्लवी जैन द्वारा कही गई है।

यह भी पढ़े: इंदौर के धेनु मार्केट में खाद्य विभाग का छापा

 

स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ( Madhya Pradesh Health Minister Tulsi Silawat) ने कहा कि, ‘मिलावटखोर या तो मध्य प्रदेश छोड़ दें या जेल जाने को तैयार रहें’। सिलावट की इस बात से यह साबित हो गया है की अब मिलावटीयों का बचना मुमकिन नहीं है। विभाग की प्रमुख सचिव पल्लवी जैन (Pallavi Jain Govil) ने कहा कि लोगो के द्वारा दी गई सूचना के आधार पर हम सैंपल लेकर उसे जाच के लिए भेजेंगे। प्राथमिक इस बात पर ध्यान दिया जायेगा कि जल्द से जल्द कारवाई हो और जाच के लिए लेब में भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट समय पर मिल सके। जरूरत पड़ने पर मिलावटी खाद्य पदार्थ के सैंपल मुंबई व अन्य शहरों की लैब में भी भेजे जायेंगे। अगर लेब में जाच के दौरान सैंपल फेल हो जाता है तो उसके बाद मामला कोर्ट में जायेगा। जरूरत पड़ने पर खाद्य कानून में भी बदलाव किया जाएगा।

सिलावट ने कहा कि पिछले कुछ महीनो से मध्य प्रदेश में नकली घी, नकली मावा, सिंथेटिक दूध और दही को लेकर अधिकारी अलर्ट पर है। शुक्रवार को हुई स्वास्थ्य विभाग की बैठक में सिलावट ने कहा मप्र में जल्द ही नए डाॅक्टराें और पैरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति होगी। इसके साथ ही मप्र के हर जिले में कम से कम 20 नए डॉक्टर नियुक्त किए जाएंगे।

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *