0

कहते हैं प्राकृतिक आपदा यानी कि कुदरत के कहर आगे सभी बेबस हो जाते हैं। कुदरत का कहर जब बरसता है तो फिर कोई कुछ नहीं कर सकता। ऐसा ही नज़ारा देखने मिला दुनिया के एक देश जापान में। जापान में सुपर-टाइफून हगिबीस (Typhoon Hagibis) तूफ़ान ने बेहद जबरदस्त तबाही मचाई। इस कुदरत के कहर के सामने कुछ न टिक सका। इस तूफान ने सब तहस-नहस कर के रख डाला। जापान में इस तूफान से भारी जान-माल का नुकसान हुआ है। इस तूफान की वजह से कम से कम 14 लोग मारे गए और 100 से भी अधिक लोग घायल हो गए।

Typhoon Hagibis In Japan
Typhoon Hagibis In Japan

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जापान में आए इस भयंकर तूफ़ान से होने वाली तबाही और जान-माल के नुकसान पर शोक व्यक्त किया। इतना ही नहीं नरेन्द्र मोदी ने इस प्राकृतिक आपदा के खिलाफ टोक्यो की ‘तैयारियों’ की सराहना भी की। इस बारे में पीएम मोदी ने ट्वीट किया और लिखा, “मैं जापान में सुपर-टाइफून #Hagibis के कारण हुए जानमाल के नुकसान पर सभी भारतीयों की ओर से संवेदना व्यक्त करता हूं। मैं इस प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान और तबाही के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं।”

इसके बाद पीएम ने एक और ट्वीट कर लिखा, “मुझे यकीन है कि जापानी लोगों की तैयारी और मेरे मित्र शिंजो आबे (Shinzo Abe) इसके दुष्परिणाम को प्रभावी और तेजी से निपटाएंगे। इस प्राकृतिक आपदा के खिलाफ जापान की तैयारियों की बहुत सराहना की जाती है।”

इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जापान (Typhoon Hagibis) की मदद के लिए भारतीय नौसेना की सहायता देने की भी पेशकश की। उन्होंने कहा कि इस दुःख की घड़ी में भारतीय नौसेना उनकी तुरंत सहायता करने में प्रसन्नता महसूस करेगी। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लिखा, “भारत इस मुश्किल घड़ी में जापान के साथ एकजुटता से खड़ा है। जापान में भारतीय नौसेना के लोग अपनी पूर्वनिर्धारित मुलाकात करने गए थे और वे तुरंत सहायता करने के लिए खुश होंगे।”

जापानी मीडिया ने जानकारी देते हुए कहा कि वहां की कई नदियां रिहायशी इलाकों में बहती हैं। इतना ही नहीं इस तूफान की वजह से मध्य, पूर्व और पूर्वोत्तर के इलाके बाढ़ और भूस्खलन की चपेट में आ गए। फिलहाल राहत व बचाव कार्य किया जा रहा है। जापान के प्रमुख द्वीप होंशू के 60 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी गई है।

Typhoon Hagibis In Japan

जापानी मौसम एजेंसी (JMA) ने जानकारी देते हुए कहा कि हगिबीस टाइफून (Typhoon Hagibis) तूफ़ान शनिवार शाम 7 बजे से कुछ समय पहले आया। जापानी मौसम विभाग द्वारा इबाराकी, तोचिगी, फुकुशिमा, मियागी और निगाटा में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। गौरतलब है कि हगिबीस टाइफून तूफ़ान से पहले जापान में 5.7 तीव्रता का भूकंप भी आया था। इस भूकंप का केंद्र चिबा-केन क्षेत्र में 80 किलोमीटर की गहराई में बताया गया है।

ताजा जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिये BNR News के साथ।

0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *