0

कल यानी शुक्रवार को देश के वीर जावाज विंग कमांडर अभिनंदन वतन वापस लौट आए। उनकी वापसी पर पूरे देश में एक बार फिर जश्न का माहौल बन गया। लोगों ने मिठाइयां बाटीं, पटाखे फोड़े, भारत माता की जय के जयकारे लगाए। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे वीर जाबांज विंग कमांडर अभिनंदन के बारे में? अगर नहीं तो आज हम बताते हैं उनके बारे में।

 

उस देश की सरहद को कोई छू नहीं सकता…

देश का वह शूरवीर जिसने दुश्मन की धरती पर भी बड़ी निडरता से ‘जय माता दी’ का उदघोष किया। वह योद्धा जिसने अदम्य सहस का परिचय देते हुए बड़ी ही बेबाक तरीके से दुश्मन के हर सवाल का मुहतोड़ जवाब दिया। जिसके शौर्य के आगे दुश्मन भी नतमस्तक हो गया। उनकी निडरता, साहस और शौर्य का दुश्मन भी कायल हो गया। ऐसे जबाज वीर पराक्रमी को हमारा सलाम। ‘उस देश की सरहद को कोई छू नहीं सकता, जिस देश की सरहद की निगेहबान हैं आंखे…’

अभिनंदन ने दिखाया ऐसा पराक्रम…

दुश्मन की धरती पर गिरने और पकड़े जाने से पहले विंग कमांडर अभिनंदन ने ऐसा पराक्रम दिखाया कि सिर्फ पाकिस्तान ही नहीं बल्कि अमरीका खुदा हैरान रह गया। पाकिस्तान का सबसे आधुनिक F16 फाइटर जेट जिसे अमरीका ने पाक को दिया था, उसे भारत के 2nd जनरेशन मिग 21 ने मार गिराया। इस बात से अमरीका का भी हैरान होना तो लाजमी था। वह कहते हैं न कि शेर कितना भी बूढा क्यों न हो जाए मगर शिकार करना नहीं छोड़ता। कुछ ऐसा ही कर दिखाया भारतीय लड़ाकू विमान ने। इस विमान को कोई और नहीं बल्कि वही पराक्रम योद्धा उड़ा रहा था जिसे पाकिस्तान ने कैद कर लिया था।  

पिता और पत्नी भी वायुसेना में…

सिर्फ विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ही नहीं बल्कि उनकी पत्नी और पिता भी भारतीय वायुसेना का हिस्सा रह चुके हैं। विंग कमांडर अभिनंदन चेन्नई के रहने वाले हैं। विंग कमांडर की धर्म-पत्नी तन्वी मारवाह भी भारतीय वायुसेना में स्क्वाड्रन लीडर रह चुकी हैं। 34 वर्षीय अभिनंदन के पिता रिटायर्ड एयर मार्शल सिम्हाकुट्टी वर्धमान हैं। अभिनंदन के पिता न सिर्फ एक जाबांज पायलट थे, बल्कि उन्होंने साल 2017 में प्रदर्शित एक तमिल फिल्म के पटकथा सलाहकार की भूमिका भी अदा की। यह फिल्म सन 1999 करगिल वॉर में पाकिस्तान में फंसे एक पायलट की है। इस फिल्म का निर्देशन भारतीय सिनेमा के सबसे बेहतरीन फिल्मकारों में से एक मणिरत्नम ने किया था। इस फिल्म का नाम “काटरू वेलियीडई” है। इस फिल्म को पिछले साल 65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरुस्कार में तीन पुरूस्कार तीन पुरूस्कार भी मिले।

2004 में आए वायुसेना में

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के पिता ने अपने करियर में 40 विमान उड़ाए हैं। उन्होंने 4000 फ्लाइंग घण्टे भी दर्ज किए हैं। उन्हें अपने बेटे अभिनंदन पर गर्व है। अभिनंदन ने साल 2004 में वायुसेना ज्वाइन की थी। पहले उन्होंने सुखोई विमान को उड़ाया था। प्रमोशन के बाद उन्हें मिग 21 विमान की कमान सोंपी गई। अभिनंदन का एक बेटा भी है, जिसका नाम तविश है। 15 जनवरी को उसका जन्मदिन था तो 20 जनवरी को अभिनंदन और तन्वी की शादी की सालगिरह।

देश में अभिनंदन…

विंग कमांडर ने अपनी बहादुरी का परिचय देते हुए न सिर्फ पाक लड़ाकू विमानों को खदेड़ा, बल्कि एक फाइटर जेट को मार भी गिराया। इस दौरान उनका विमान पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में क्रैश हो गया। वे दुश्मन देश में जा गिरे जहां उन्हें पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि उनकी वतन वापसी हो चुकी है। ऐसे शूरवीर, पराक्रमी और बहादुर योद्धा का पूरा देश सलाम कर रहा है। हमारे तीनों सेनाओं को हमारा सलाम।

0